दुर्योधन ने श्री कृष्ण की पूरी नारायणी सेना मांग ली थी।
और अर्जुन ने केवल श्री कृष्ण को मांगा था।
उस समय भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन की चुटकी (मजाक) लेते हुए
कहा:
“हार निश्चित हैं तेरी, हर दम रहेगा उदास ।
माखन दुर्योधन ले गया, केवल छाछ बची तेरे पास ।”
अर्जुन ने कहा :- हे प्रभु
“जीत निश्चित हैं मेरी, दास हो नहीं सकता उदास ।
माखन लेकर क्या करूँ, जब माखन चोर हैं मेरे पास…!!!!
” जय श्री कृष्ण ”
“जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई !”??????

Aa mere pass tujhe apne hathon se sawar du,
Laal rang ke gulal se tere gaalon ko nikhar du.

Mast lagegi tu in raangon ki fuhar mein…
Teri chahat me sanam khud ko es kadar sawar du.

Satrangi hawaye chal rahi hai charo or,
Udd rahe hai jo raang un gulalon ki fuhar du.

Es kadar tujhe honthon ka jam-e-bahar du,
Aa mere pass tujhe apne hathon se sawar du.!!

आन देश की शान देश की, देश की हम संतान हैं;
तीन रंगों से रंगा तिरंगा, अपनी ये पहचान है!
15 अगस्त मुबारक!

चड़ गये जो हंसकर सूली;
खाई जिन्होने सीने पर गोली;
हम उनको प्रणाम करते हैं!
जो मिट गये देश पर;
हम सब उनको सलाम करते हैं!
स्वतंत्रता दिवस की बधाई!