एक कड़वा सच

शादी में कुंवारे और शवयात्रा में बूढ़े
लोग ज्यादा इस वजह से जाते हे की दोनों को एक बात ही सताती हे

अपन नहीं जाएंगे तो अपनी में कौन आएगा!

 

राजस्थान में गणेशोत्सव संपन्न हुआ और श्री गणेश जी कैलाश पर्वत पर पहुँचे।

माता पार्वती ने पूछा: कैसा रहा उत्सव का माहौल?

गणेश जी: बरस बरस मारा इन्द्र राजा.तू बरश्या मारो काज सरे ।

माता पार्वती: अरे, ये क्या बोलते हो ?

गणेश जी: अरे अमलिडो अमलिडो अमलिडो भोलो सन्ता ने लागे वालो अरे नाग तिरस् वा वालो ओ बाबो भोलो अमलीडो ।।।

रिद्धी: अरे, ये क्या है ???

गणेश जी: ले नाच.. ले नाच.. ले नाच मारी बींदणी भंडारा में डीजे बाजे नाच …..

सिद्धि: अरे किया हुआ स्वामी ?????

गणेश जी: ओ ढकण खोल दे .. ऐ ढकण खोल दे कलाली थारी बोतल को दारू रे पियाला मैं तो थारे घर को।।।

शंकर जी: आजकल टाबरा ने राजस्थान भेजण रो ज़मानो ही कोनी रियो।

 

पत्नी सब्जी लेने में इतना मोलभाव कर रही थी कि पति परेशान हो गया।

पति: मेहरबानी करके जल्दी खरीदो। ऑफिस के लिए लेट हो रहा हूं।

पत्नी:
तुम बीच में मत बोलो,
जल्दी-जल्दी के कारण ही तुम जैसा पति मिला है मुझे।
अब सब्जी के मामले में जल्दी नहीं करूंगी।..

 

पाकिस्तानी राष्ट्रपति ने दिया बयान:
अगर युद्ध हुआ तो हम परमाणु बम फोड़ देंगे!

राजनाथ सिंह:
तो हमने कोनसा नरेंद्र मोदी की शादी में फोड़ने के लिए बचा रखा हे!

 

टीचर : 1869 में क्या हुआ ?

सुरेश :- गांधीजी का जन्म!

टीचर :- बिलकुल सही. बैठो निचे ..

टीचर :- पप्पू तु बोल.. 1872 में क्या हुआ…?

पप्पू :- गांधीजी ३ साल के हो गए… मैं भी बैठू क्या?

 

एक नीग्रो (बहुत ही काला व्यक्ति) बस में अपने छोटे से बच्चे को गोद में लेकर चढ़ा.

कंडक्टर ने उसका बच्चा देखकर कहा-
“इतना काला बच्चा मैंने आज तक नहीं देखा”……

नीग्रो को बहुत गुस्सा आया, लेकिन वो कुछ नहीं बोला
और भुभुनाते हुए सीट पर जा कर बैठ गया।

बगल में बैठे “सरदार जी” ने उससे पूछा:
“क्या हुआ भाई साहब”?

नीग्रो ने सरदार से कहा:
अरे भाई, उस कंडक्टर ने बेइज्जती कर दी।

सरदार:
अरे मार साले को जाकर।
ला ये चिम्पांजी का बच्चा मुझे पकड़ा दे… साला काटेगा तो नहीं..? ?

 

“बुद्धी” का उपयोग करनेवाले जापान में…
603 किमी./घंटा रफ्तार वाली ट्रैन के बाद,
7G की टेस्टिंग शुरू हो चुकी है…

और इंडिया में “पढ़े-लिखे” लोग
Whatsapp पर 11 लोगों को “ॐ नम: शिवाय:” भेजकर
फ्री बैलेंस और चमत्कार की उम्मीद कर रहे हैं।।

और तो और नही भेजा तो
अप्रिय घटना की चेतावनी ओर दे देते है !

संता केले के छिलके से फिसल कर गिर गया।
आगे चला तो दूसरे छिलके से फिसल कर गिर गया।
थोड़ा और आगे चला तो उसे तीसरा छिलका दिख गया।

संता बोला- धत् तेरे की, अब फिर से गिरना पड़ेगा .. !