सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से;सामना न हो कभी तन्हाईओं से!….

सदा दूर रहो ग़म की परछाइयों से;
सामना न हो कभी तन्हाईओं से!
हर अरमान हर ख्वाब पूरा हो आपका;
यही दुआ है दिल की गहराइयों से!
नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनायें!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *