मोहब्बत नापने

मोहब्बत नापने का कोई पैमाना नहीं होता, कहीं तू बढ़ भी सकता है, कहीं तू मुझ से कम होगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *