तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है

तुम बिन ज़िंदगी सूनी सी लगती है,
हर पल अधूरी सी लगती है,
अब तो इन साँसों को अपनी साँसों से जोड़ दे,
क्योंकि अब यह ज़िंदगी कुछ पल की मेहमान सी लगती है।

Tum bin zindagi suni si lagti hai,
Har pal adhuri si lagti hai,
Ab to in saanson ko apni saanson se jodde,
Warna zindagi kuch pal ki mehmaan lagti hai

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *