चाँद को बैठाकर पहरों पर; तारों को दिया निगरानी का काम; एक रा….

चाँद को बैठाकर पहरों पर; तारों को दिया निगरानी का काम; एक रात सुहानी आपके लिए; एक स्वीट सा ‘ड्रीम’ आपकी आँखों के नाम! शुभ रात्रि!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *