गिरा दे जितना प�

गिरा दे जितना पानी है तेरे पास ऐ बादल ; ये प्यास किसी के मिलने से बुझेगी, तेरे बरसने से नही !!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *