किसी कुम्हार क

किसी कुम्हार के कच्चे घड़े, पिघलाने किसी माली की बगिया को दुलारने . जाने किस काम से आई है अबके ये बारिश…|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *