ए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना; तारों की महफ़िल संग रोशनी….

ए चाँद मेरे दोस्त को एक तोहफ़ा देना; तारों की महफ़िल संग रोशनी देना; छुपा लेना अंधेरे को; हर रात के बाद खूबसूरत सवेरा देना। शुभ रात्रि।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *