इश्क़ का रोग है,

इश्क़ का रोग है, चेहरे के रंग बताते हैं जाने किस बात पे, तन्हा ही हँसे जाते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *